तेरी बिगड़ी बन जाएगी तू जय माता की बोल,
जय माता की बोल प्यारे क्या लागे तेरा मोल,
तेरी बिगड़ी बन जाएगी तू जय माता की बोल……

मैया जी का नाम प्यारे जिसने प्रेम से गाया,
उसको मां शेरावाली ने अपने धाम बुलाया,
उसको मुक्ति मिल जाएगी तू जय माता की बोल,
तेरी बिगड़ी बन जाएगी तू जय माता की बोल……

कमा कमा के दौलत तूने भरली खूब तिजोरी,
भूल गया है मिली है तुझको आयु बहुत ही थोड़ी,
माया काम नहीं आएगी तू जय माता की बोल,
तेरी बिगड़ी बन जाएगी तू जय माता की बोल……

पांच तत्वों से बनी है मिलकर तेरी सुंदर काया,
विषय भोग में पढ़कर तूने इसको बहुत गवाया,
काया मिट्टी में मिल जाएगी तू जय माता की बोल,
तेरी बिगड़ी बन जाएगी तू जय माता की बोल……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह