मेरे भोले बाबा जग में निराले लागे,
बड़े प्यारे लागे,
मेरे बाबा बड़े भोले भाले न्यारे लागे,
बाबा भोले बाबा, बाबा भोले बाबा…..

शिव की महिमा चारो दिशा में गाये नर और नारी,
गाये नर और नारी,
भोले के दर पे भक्तो की भीड़ पड़ी है भारी,
मेरे बाबा का बड़ा ही प्यारा धाम लागे,
पवन धाम लागे,
मेरे बाबा बड़े भोले भाले न्यारे लागे,
बाबा भोले बाबा, बाबा भोले बाबा…..

जटा में गंगा, गले में सर्प, माथे चंदा साजे,
एक हाथ त्रिशूल दूजे हाथ में डमरू बाजे,
बड़ा निराला ही इनका रूप लागे ,
बड़ा प्यारा लागे,
मेरे बाबा बड़े भोले भाले लागे,
बाबा भोले बाबा, बाबा भोले बाबा…..

भोले को जिसने भी पूजा मनचाहा वर पाया,
गौरा जी ने भी तो इनको बड़े ही तप से पाया,
इनकी जोड़ी बड़ी ही प्यारी लागे,
न्यारी न्यारी लागे,
मेरे बाबा बड़े भोले भाले न्यारे लागे,
बाबा भोले बाबा, बाबा भोले बाबा…..

भोले भोले नाम रटत है जो भी सुबह शाम,
सबकी बाधा दूर करत है भोले नाम,
शिव नाम से सफल जिंदगानी लागे,
हो जिंदगानी लागे,
मेरे बाबा बड़े भोले भाले न्यारे लागे……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती
पुत्रदा एकादशी

शुक्रवार, 16 अगस्त 2024

पुत्रदा एकादशी

संग्रह