देखो शिव कितना प्यारा लगे,
देखो शिव कितना प्यारा लगे,
देवो में देव सबसे न्यारा लगे,
देखो शिव कितना प्यारा लगे…..

काँधे पे शिव के बंधा माला है,
शिव के ही सारे चमत्कार है,
हारा है जिसने सारा जमाना,
शिव की जटन में गंगा जो सोहे,
प्यारी वो जल की धारा बहे रे,
देखो शिव कितना प्यारा लगे…..

दुनिया कहे शिव है भोला भाला,
जिसने पिया था विष का प्याला,
धुनें की रज लो लपेटे बदन से,
डमरू बजाता है कितना निराला,
देवो में देव सबसे न्यारा लगे,
देखो शिव कितना प्यारा लगे…..

झूठी नहीं बात वेदों का कहना,
भक्तो के दिल का बनाम होके कहना,
सारी ये दुनिया के दुःख को मिटाये,
नईया भगतो की किनारे लगे,
देखो शिव कितना प्यारा लगे…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा
कूर्म जयंती

गुरूवार, 23 मई 2024

कूर्म जयंती
नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी

संग्रह