किया ना तूने हरि से प्यार,
सारा जीवन दिया यूंही गुजार,
तूने की बड़ी नादानी है,
नादान तेरी यही कहानी है,
मानव तन ना पाएगा दोबारा,
व्यर्थ गंवाया सारे का सारा,
यही नाकामी की निशानी है,
नादान तेरी यही कहानी है,
मोह से प्रीत है दुख का कारण,
माया ठगनी की मन में धारण,
समझ सका ना बड़ा अज्ञानी है,
नादान तेरी यही कहानी है,
करले कर्म कुछ सुधारले जीवन,
प्रभु भक्ति में लगाले तू मन,
संतो की यही वाणी है,
नादान तेरी यही कहानी है,
तूने की बड़ी नादानी है।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह