लीले की लीला न्यारी है, ये घूमे दुनिया सारी है।
इसका मालिक खाटू वाला ✖️2
देखो लीले का असवारी है, ये घूमे …
लीले की लीला न्यारी है, ये घूमे…

ये पवन वेग से चलता है,
इसकी कृपा से हमको मिलता है।
इसकी पीठ पे श्याम बिहारी है, ये घूमे…
लीले की लीला न्यारी है, ये घूमे…

ये दाल चना किसमिस खाता,
इसे और नहीं कुछ भी भाता।
नहीं देता कोई पुजारी है, ये घूमे…
लीले की लीला न्यारी है, ये घूमे…

इसके बिन काम ना होता है,
ये एक पल भी ना सोता है।
ये लीला बड़ा उपकारी है, ये घूमे…
लीले की लीला न्यारी है, ये घूमे…

है दास रविन्दर दीवाना,
है श्याम नाम का मस्ताना।
इस लीले का आभारी है, ये घूमे…
लीले की लीला न्यारी है, ये घूमे…

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह