मैं अपना किसे बनाऊं,
तुझे देखने के बाद,
मैं किस जगह पे जाऊं,
तुझे देखने के बाद,
मै अपना किसे बनाऊं,
तुझे देखने के बाद…..

तस्वीर श्यामा श्याम की,
मेरे मन बसी सी है,
मैं किस तरह भुलाउं,
तुझे देखने के बाद,
मै अपना किसे बनाऊं,
तुझे देखने के बाद……

सब कुछ दिया है आपने,
मेरा तो कुछ नहीं,
मैं किस तरह चुकाऊं,
तुझे देखने के बाद,
मै अपना किसे बनाऊं,
तुझे देखने के बाद……

भाता नहीं है कोई भी,
मुझको तेरे सिवा,
मैं किस तरह से पाऊं,
तुझे देखने के बाद,
मै अपना किसे बनाऊं,
तुझे देखने के बाद…….

सतगुरु ने तेरे नाम की,
भक्ति पिला दी है,
मैं होश में ना आऊं,
तुझे देखने के बाद,
मै अपना किसे बनाऊं,
तुझे देखने के बाद…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह