मां बाला सुन्दरी ने रखा सर पे हाथ,
देखो मैं मालामाल हो गया,
जग की दाती ने रखा सर पे हाथ,
देखो मैं मालामाल हो गया…..

त्रिलोकपुर का देख नजारा,
मैया का मन्दिर बड़ा प्यारा,
जहाँ कृपा की होती बरसात देखो में मालामाल हो गया,
मां बाला सुन्दरी ने रखा सर पे हाथ,
देखो मैं मालामाल हो गया….

काम मेरा रोके ना रुकता,
मैया के चरणो में जब में झुकता,
सदा रखना दया का हाथ देखो में मालामाल हो गया,
मां बाला सुन्दरी ने रखा सर पे हाथ,
देखो मैं मालामाल हो गया….

मैया पे विश्वास तू रख ले,
जय माँ जय माँ नाप तू जप ले,
मैया बदलेगी तेरे हालात देखो में मालामाल हो गया,
मां बाला सुन्दरी ने रखा सर पे हाथ,
देखो मैं मालामाल हो गया…..

मैया सब पे कृपा करना,
सबके ही भण्डारे भरना,
सुन लो सिंगला की इतनी सी बात,
ये सेवक तो निहाल हो गया,
मां बाला सुन्दरी ने रखा सर पे हाथ,
देखो मैं मालामाल हो गया…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह