खोलो खोलो मां मंदिर के द्वारे, आए दर्शन को हम हैं तुम्हारे,
काटो भक्तों के संकट सारे, आए दर्शन को हम हैं तुम्हारे….

आज मन में यही हमने ठाना,
तेरे दर से ना दाती है जाना,
दे दो नैनो को अब तू नजारे, आए दर्शन को हम हैं तुम्हारे,
खोलो खोलो मां मंदिर के द्वारे…..

मन की कलियों से गुथी है माला,
तुमको पहनाएंगे मां ज्वाला,
दे दो दे दो दिलों को सहारे, आए दर्शन को हम हैं तुम्हारे,
खोलो खोलो मां मंदिर के द्वारे…..

आजा शेरों पर करके सवारी,
पूर्ण कर दो यह आशा हमारी,
तुमने लाखों के कारज संवारे, आए दर्शन को हम हैं तुम्हारे,
खोलो खोलो मां मंदिर के द्वारे…..

हम तुम्हारी ही करते हैं पूजा,
और तुमसा नहीं कोई दूजा,
चरण धोते हैं गंगा किनारे, आए दर्शन को हम हैं तुम्हारे,
खोलो खोलो मां मंदिर के द्वारे…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह