मां को हम चाहते हैं ऐसे, मरने वाला कोई हो,,,
मरने वाला कोई जिंदगी चाहता हो जैसे,
मां को हम चाहते हैं ऐसे…..

मेरी मैया को टीका पहना दो,
टीका ही नहीं,, बिंदिया से सजा दो ऐसे,
मां को हम चाहते हैं ऐसे……

मेरी मैया को हरवा पहना दो,
हरवा ही नहीं,, माला से सजा दो ऐसे,
मां को हम चाहते हैं ऐसे…..

मेरी मैया को कंगना पहना दो,
कंगना ही नहीं,, मेहंदी से सजा दो ऐसे,
मां को हम चाहते हैं ऐसे…..

मेरी मैया को पायल पहना दो,
पायल ही नहीं,, महावर से सजा दो ऐसे,
मां को हम चाहते हैं ऐसे…..

मेरी मैया को लहंगा पहना दो,
लहंगा ही नहीं,, चुनरी से सजा दो ऐसे,
मां को हम चाहते हैं ऐसे…..

मेरी मैया को हलवा खिला दो,
हलवा ही नहीं,, छोले से झिका दो ऐसे,
मां को हम चाहते हैं ऐसे……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह