मैया दौड़ी चली आओ मेरे अंगना…..

मैया एक दल आया पूरब से,
पूरब चली आ मेरे अंगना,
मैया हरो-हरो अंगना लिपाई रखूंगी,
झंडा आसमान लहराए मेरे अंगना,
मैया दौड़ी चली आओ मेरे अंगना…..

मैया एक दल आया पश्चिम से,
पश्चिम चली आओ मेरे अंगना,
मैया मोतियन चौक पुराए रखूंगी,
आकर भवन सजा मेरे अंगना,
मैया दौड़ी चली आओ मेरे अंगना…..

मैया एक दल आया उत्तर से,
उत्तर चली आओ मेरे अंगना,
मैया लाल लाल चोला मंगाए रखूंगी,
सज धज चली आ मेरे अंगना,
मैया दौड़ी चली आओ मेरे अंगना…..

मैया एक दल आयो दक्षिण से,
दक्षिण चली आओ मेरे अंगना,
मैया सब रस मेवा मंगाई रखूंगी,
आकर भोग लगा मेरे अंगना,
मैया दौड़ी चली आओ मेरे अंगना…..

मैया एक दल आया मौजपुर से,
अंगना में चली आओ मेरे अंगना,
मैया भक्तों की टोली बुलाए रखूंगी,
सत्संग सुन जा मेरे अंगना,
मैया दौड़ी चली आओ मेरे अंगना…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह