रन चण्डी महाकाली कालका,
जद रण अंदर वार करे,
जय काली प्रचंड ज्वाला दुष्टा दा संघार करे,
जय काली प्रचंड ज्वाला दुष्टा दा संघार करे,
रन चण्डी महाकाली कालका…….

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे

जल थल गगन मंडल हिल जावे,
जद हुँकार माँ काली लावे,
काल रूप तक थर-थर कमदे,
असुर दैत्य पानी ना मंगदे,
असुर दैत्य पानी ना मंगदे,
खड़क चक्कर त्रिशूल मैया दा….हो,
खड़क चक्कर त्रिशूल मैया दा,
ईको विच मसल दले,
जय काली प्रचंड ज्वाला दुष्टा दा संघार करे,
जय काली प्रचंड ज्वाला दुष्टा दा संघार करे,
रन चण्डी महाकाली कालका……

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे

माँ शक्ति माँ सिंहवाहिनी,
अष्ट भवानी पाप नाशिनी,
अक़्ल चण्डिका सिद्धकालिका माँ,
दानवदल नु दलन वाली माँ,
दानवदल नु दलन वाली माँ,
नरमुण्ड दल विच तांडव नाचे….हो
नरमुण्ड दल विच तांडव नाचे,
काल भैरव भी प्राण हरे,
जय काली प्रचंड ज्वाला दुष्टा दा संघार करे,
जय काली प्रचंड ज्वाला दुष्टा दा संघार करे,
रन चण्डी महाकाली कालका….

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे

पाप जंजाल विकार मुकावे,
दुर्गा धारी रूप धरावे,
भगतजना दी सदा सहाई,
जय अम्बे जय कालका माई,
जय अम्बे जय कालका माई,
सब दियां रखे मने माँ….हो,
सब दियां रखे मने माँ,
सब दियां झोलिया रोज भरे,
जय काली प्रचंड ज्वाला दुष्टा दा संघार करे,
जय काली प्रचंड ज्वाला दुष्टा दा संघार करे,
रन चण्डी महाकाली कालका……

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह