कर दो कृपा की नजरे हम पे भोलेनाथ जी,
शरण में हम भी खड़े है रख दो सिर पे हाथ जी…..

पीकर विष को तुमने इस जग का कल्याण किया है,
जिसने भी जो मांग लिया उसे पल में दान दिया है,
देखा नहीं दूजा कोई तुमसे दातार जी…..

देवों के भी देव प्रभु तुम महिमा तेरी न्यारी,
तेरे चरणों में झुकती है ये त्रिलोकी सारी,
सुनते हो सबकी ही तुम देते सबका साथ जी…..

भक्ति अर्चन पूजा वंदन प्रभु हमको ना आये,
तुम ही बताओ हे शिव शंकर कैसे तुम्हे रिझाये,
प्रीत की सुनलो विनती सुनलो शंभुनाथ जी……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह