हर साल लगे दरबार करोली वाली मैया का,
करोली वाली मैया का, मेरी नैना देवी मईया का,
हर साल लगे दरबार…..

चौरासी जाके के घंटा बाजे,
झालर शंख नगाड़ो बाजे,
नौबत खाने में शोर, करौली वाली मैया के,
हर साल लगे दरबार…..

महिषासुर जाने दानव मारो,
चंड मुंड को या ने मारो,
टैब चामुण्डा कहलाई, करौली वाली मैया री,
हर साल लगे दरबार…..

ओढ़ चुनरिया रूप निराला,
गल सोहे जाके मुण्ड की माला,
तेरी हो रही जै जै कार, करौली वाली मैया के,
हर साल लगे दरबार…..

हम सब तेरे भगत निराले,
भजन तुझे दिन रात सुनावे,
और बोलें जै जै कार, करौली वाली मैया के,
हर साल लगे दरबार…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह