धुन:- मैं वारे जावा

माँ नैना देवी,
भगतां प्यारियाँ दी मन्ने…..

नैना गुजर जद गऊआं चारे,
आन मईया ने दित्ते दीदारे,
लिखे सुनहरी पन्ने,
माँ नैना देवी……

शम्भु भगत जेहे लखा तारे,
जो भी चल के आन द्वारे,
लाउंदी बेड़े बन्ने,
माँ नैना देवी……

दर मईया दे झूलन झंडे,
मिठिया मुरादा सब नू वंडे,
मान पापी दा भन्ने,
माँ नैना देवी……

जिउने मोड़ ने छतर चढ़ाया,
आन पुलिस ने घेरा पाया,
साधु दा उस भेस बनाया,
चमत्कार सी माँ दिखलाया,
करते पुलिसए बन्ने,
माँ नैना देवी……

चाहल चड़ाईया चढ़दा जावे,
जय माता दी करदा जावे,
माँ ला दू बेड़ी बन्ने,
माँ नैना देवी……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह